मृत्युभोज से ऊर्जा नस्ट होती है

👌🏻मृत्युभोज
से ऊर्जा नष्ट होती है
महाभारत के अनुशासन पर्व में लिखा है कि .....
मृत्युभोज खाने वाले की ऊर्जा नष्ट हो जाती है।
जिस परिवार में मृत्यु जैसी विपदा आई हो उसके साथ इस संकट की घड़ी में जरूर खडे़ हों
और तन, मन, धन से सहयोग करें
लेकिन......बारहवीं या तेरहवीं पर मृतक भोज का पुरजोर बहिष्कार करें।
महाभारत का युद्ध होने को था,
अतः श्री कृष्ण ने दुर्योधन के घर जा कर युद्ध न करने के लिए संधि करने का आग्रह किया ।
दुर्योधन द्वारा आग्रह ठुकराए जाने पर श्री कृष्ण को कष्ट हुआ और वह चल पड़े,
तो दुर्योधन द्वारा श्री कृष्ण से भोजन करने के आग्रह पर कृष्ण ने कहा कि
🍁
’’सम्प्रीति भोज्यानि आपदा भोज्यानि वा पुनैः’’
अर्थात्
"जब खिलाने वाले का मन प्रसन्न हो, खाने वाले का मन प्रसन्न हो,
तभी भोजन करना चाहिए।
🍁
लेकिन जब खिलाने वाले एवं खाने वालों के दिल में दर्द हो, वेदना हो,
तो ऐसी स्थिति में कदापि भोजन नहीं करना चाहिए।"
🍁
हिन्दू धर्म में मुख्य 16 संस्कार बनाए गए है,
जिसमें प्रथम संस्कार गर्भाधान एवं अन्तिम तथा 16वाँ संस्कार अन्त्येष्टि है।
इस प्रकार जब सत्रहवाँ संस्कार बनाया ही नहीं गया
तो सत्रहवाँ संस्कार
'तेरहवीं का भोज'
कहाँ से आ टपका।
किसी भी धर्म ग्रन्थ में मृत्युभोज का विधान नहीं है।
बल्कि महाभारत के अनुशासन पर्व में लिखा है कि मृत्युभोज खाने वाले की ऊर्जा नष्ट हो जाती है।
लेकिन हमारे समाज का तो ईश्वर ही मालिक है।

जिस भोजन बनाने का कृत्य....
रो रोकर हो रहा हो....
जैसे लकड़ी फाड़ी जाती तो रोकर....
आटा गूँथा जाता तो रोकर....
एवं पूड़ी बनाई जाती है तो रो रोकर....
यानि हर कृत्य आँसुओं से भीगा हुआ।
ऐसे आँसुओं से भीगे निकृष्ट भोजन
अर्थात बारहवीं एवं तेरहवीं के भोज का पूर्ण रूपेण बहिष्कार कर समाज को एक सही दिशा दें।
जानवरों से भी सीखें,
जिसका साथी बिछुड़ जाने पर वह उस दिन चारा नहीं खाता है।
जबकि 84 लाख योनियों में श्रेष्ठ मानव,
जवान आदमी की मृत्यु पर
हलुवा पूड़ी पकवान खाकर शोक मनाने का ढ़ोंग रचता है।
इससे बढ़कर निन्दनीय कोई दूसरा कृत्य हो नहीं सकता।
यदि आप इस बात से
सहमत हों, तो
आप आज से संकल्प लें कि आप किसी के मृत्यु भोज को ग्रहण नहीं करेंगे और मृत्युभोज प्रथा को रोकने का हर संभव प्रयास करेंगे
हमारे इस प्रयास से यह कुप्रथा धीरे धीरे एक दिन अवश्य ही पूर्णत: बंद हो जायेगी
🍁
ग्रुप के सभी सम्मानित सदस्यों से परम आग्रह है कि
इस पोस्ट को अधिक से अधिक ग्रुप में शेयर करें।
मृत्युभोज समाज में फैली कुरीति है व समाज के लिये अभिशाप है ।
🙏 मानव समाज हित में 🙏

जीवनोपयोगी

*जिन्दगी A B C D है*
*यकींन नहीं है क्या*
-----------------------------------------
*A - ऐतबार*
-----------------------------------------
*B - भरोसा*
-----------------------------------------
*C - चाहत*
-----------------------------------------
*D - दोस्ती*
-----------------------------------------
*E - इनायत*
-----------------------------------------
*F - फैसला*
-----------------------------------------
*G - गम*
-----------------------------------------
*H - हिम्मत*
-----------------------------------------
*I - इंतज़ार*
-----------------------------------------
*J - जरुरत*
-----------------------------------------
*K - ख्याल*
-----------------------------------------
*L - लम्हें*
-----------------------------------------
*M - मोहब्बत*
-----------------------------------------
*N - नाराज़गी*
-----------------------------------------
*O - उम्मीद*
-----------------------------------------
*P - प्यार*
-----------------------------------------
*Q - किस्मत*
-----------------------------------------
*R - रिश्ते*
-----------------------------------------
*S - समझौता*
-----------------------------------------
*T - तमन्ना*
-----------------------------------------
*U - उदासियां*
-----------------------------------------
*V - विरासत*
-----------------------------------------
*W - वादा*
-----------------------------------------
*X - क्सचेंज*
-----------------------------------------
*Y - यादे*
-----------------------------------------
*इन सब फीलिंग्स से*
*मिलकर बनती है*
-----------------------------------------
*Z - जिन्दगी*

*जीवनोपयोग*

*1. सुबह उठ कर कैसा पानी पीना चाहिए*

    उत्तर -     हल्का गर्म

*2.  पानी पीने का क्या तरीका होता है*

    उत्तर -    सिप सिप करके व नीचे बैठ कर

*3. खाना कितनी बार चबाना चाहिए*

     उत्तर. -    32 बार

*4.  पेट भर कर खाना कब खाना चाहिए*

     उत्तर. -     सुबह

*5.  सुबह का नाश्ता कब तक खा लेना चाहिए*

     उत्तर. -    सूरज निकलने के ढाई घण्टे तक

*6.  सुबह खाने के साथ क्या पीना चाहिए*
    
     उत्तर. -     जूस

*7.  दोपहर को खाने के साथ क्या पीना चाहिए*

    उत्तर. -     लस्सी / छाछ

*8.  रात को खाने के साथ क्या पीना चाहिए*

    उत्तर. -     दूध

*9.  खट्टे फल किस समय नही खाने चाहिए*

    उत्तर. -     रात को

*10. आईसक्रीम कब खानी चाहिए*

       उत्तर. -      कभी नही

*11. फ्रिज़ से निकाली हुई चीज कितनी देर बाद*
      *खानी चाहिए*

      उत्तर. -    1 घण्टे बाद

*12. क्या कोल्ड ड्रिंक पीना चाहिए*

       उत्तर. -      नहीं

*13.  बना हुआ खाना कितनी देर बाद तक खा*
      *लेना चाहिए*

      उत्तर. -     40 मिनट

*14.  रात को कितना खाना खाना चाहिए*

       उत्तर. -    न के बराबर

*15.  रात का खाना किस समय कर लेना चाहिए*

      उत्तर. -     सूरज छिपने से पहले

*16. पानी खाना खाने से कितने समय पहले*
     *पी सकते हैं*

      उत्तर. -     48 मिनट

*17.  क्या रात को लस्सी पी सकते हैं*

     उत्तर. -     नही

*18.  सुबह खाने के बाद क्या करना चाहिए*

       उत्तर. -     काम

*19. दोपहर को खाना खाने के बाद क्या करना*
       *चाहिए*

       उत्तर. -     आराम

*20. रात को खाना खाने के बाद क्या करना*
     *चाहिए*

      उत्तर. -    500 कदम चलना चाहिए

*21. खाना खाने के बाद हमेशा क्या करना*
      चाहिए

      उत्तर. -     वज्रासन

*22. खाना खाने के बाद वज्रासन कितनी देर*
      *करना चाहिए.*
    
      उत्तर. -     5 -10 मिनट

*23.  सुबह उठ कर आखों मे क्या डालना चाहिए*

      उत्तर. -     मुंह की लार

*24.  रात को किस समय तक सो जाना चाहिए*

      उत्तर. -     9 - 10 बजे तक

*25. तीन जहर के नाम बताओ*

      उत्तर.-    चीनी , मैदा , सफेद नमक

*26. दोपहर को सब्जी मे क्या डाल कर खाना*
      *चाहिए*

      उत्तर. -     अजवायन

*27.  क्या रात को सलाद खानी चाहिए*

      उत्तर. -     नहीं

*28. खाना हमेशा कैसे खाना चाहिए*

      उत्तर. -     नीचे बैठकर व खूब चबाकर

*29. चाय कब पीनी चाहिए*

      उत्तर. -     कभी नहीं

*30. दूध मे क्या डाल कर पीना चाहिए*

      उत्तर. -    हल्दी

*31.  दूध में हल्दी डालकर क्यों पीनी चाहिए*

      उत्तर. -    कैंसर ना हो इसलिए

*32. कौन सी चिकित्सा पद्धति ठीक है*

      उत्तर. -   आयुर्वेद

*33. सोने के बर्तन का पानी कब पीना चाहिए*

      उत्तर. -   अक्टूबर से मार्च (सर्दियों मे)

*34. ताम्बे के बर्तन का पानी कब पीना चाहिए*

      उत्तर. -    जून से सितम्बर(वर्षा ऋतु)

*35. मिट्टी के घड़े का पानी कब पीना चाहिए*

      उत्तर. -  मार्च से जून (गर्मियों में)

*36. सुबह का पानी कितना पीना चाहिए*

      उत्तर. -  कम से कम 2 - 3 गिलास

*37. सुबह कब उठना चाहिए*

       उत्तर. -  सूरज निकलने से डेढ़ घण्टा पहले
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

मन को मैला करना ही पाप है

🌹गुरूजी--
मन को मैला करना ही पाप है और मन को पुनीत करना ही पूण्य है।

🍁जब जब हम दुराचरण करते हैं, चाहे वाणी से करे या शरीर से करें, हमें पहले अपने मन में कोई विकार जगाना होता है, मन को मैला करना होता है।
इसलिये मैले चित्त पर आधारित जो भी कर्म किया जाय वह पाप ही है और उसका फल दुखदायी ही होता है।

🌻इसी प्रकार जब हम सदाचरण करते हैं, चाहे वाणी से करें चाहे शरीर से करें, उस समय मन को विकार विमुक्त करना होता है।
क्योंकि चित्त में विकार हो, चित्त मैला हो तो उस मैले चित्त से शरीर या वाणी का कोई सत्कार्य हो ही नही सकता।
🌺
इसलिये पुनीत चित्त पर आधारित जो भी कर्म किया जाय वह पूण्य ही है और इस सदाचरण के सत्कर्म का फल सुखदायी ही होता है।
तभी कहा--
सदाचरण ही पूण्य है,
दुराचरण ही पाप।
सदाचरण से सुख जगे,
दुराचरण दुःख ताप।।

🌷धर्म का यानि निसर्ग का यह नियम है कि की मन में पाप जगाकर जब जब दुराचरण करते हैं, तब तब अपने आप को दुःखी बनाते हैं और दुसरो को भी पीड़ा पहुंचाते हैं।
इसी प्रकार जब जब मन को पुनीत करके कोई सदाचरण करते हैं, सत्कर्म करते हैं तब तब स्वयं अपने आप को सुखी बनाते हैं और दुसरो को भी सुखी बना कर उनका उपकार करते हैं।